Network Marketing Kya Hai -【नेटवर्क मार्केटिंग】की पूरी जानकारी

Table of Contents

Network Marketing Kya Hai | नेटवर्क मार्केटिंग क्या है | Network Marketing in Hindi

चाहे ऑनलाइन हो या ऑफलाइन आज के समय में पैसे कमाने के हजारों तरीके है, जिनमें एक अच्छा करियर स्टार्ट कर सकते है, लेकिन आज हम बात करने जा रहे है एक ऐसे करियर के बारे में जिसे ऑफलाइन तो किया जा सकता है साथ ही ऑनलाइन इंटरनेट कि मदद से भी इसे और ज्यादा बड़ा कर सकते है।

Hello Friends, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर आज हम बात करने जा रहे है, नेटवर्क मार्केटिंग के बारे में, नेटवर्क मार्केटिंग क्या है? (Network Marketing Kya Hai) नेटवर्क मार्केटिंग के क्या फायदे है? नेटवर्क मार्केटिंग क्यों करना चाहिए? और इससे जुड़े बेहतरीन टिप्स के बारे में बात करेंगे जो आपको कहीं और नही मिलेंगे, उम्मीद करता हूँ आपको यह पसंद आएगा।

Network Marketing Kya Hai नेटवर्क मार्केटिंग क्या है –

network marketing kya hai
Network Marketing Kya Hai | MLM Kya Hai

नेटवर्क मार्केटिंग (MLM) एक ऐसा बिजनेस है जिसमें आप लोगों को इसमें जोड़ते है है उन्हें संभावित लीडर्स के रूप में परिवर्तित करते है।

इसे MLM (Multi Level Marketing) या डायरेक्ट सेलिंग (Direct Selling) के नाम से भी जाना जाता है।

यह एक बेहतरीन बिजनेस मॉडल है चीजों (प्रोडक्ट) को ग्राहकों तक पहुंचाने का, जो कि आपको किसी और इंडस्ट्री में नही देखने को मिलता, इसके बिजनेस आईडिया के कारण ही इक्कीसवीं सदी का सबसे बेहतरीन बिजनेस मॉडल कहा गया है।

यह पहले से चली आ रही बाजार व्यवस्था से हटकर इस बिजनेस में किसी उत्पाद को सीधे कस्टमर तक पहुंचाया जाता है, जिसपर कंपनी… यूजर या ग्राहक को लाने और सामान को सेल कराने वाले मिडिल मैन को कुछ पैसे कमीशन के रूप में मिलते है।

टीम में हमारे ही तरह के लोगों के काम करने के कारण एक यूजरबेस का नेटवर्क बन जाता है, इसलिए इसे “नेटवर्क मार्केटिंग” कहा जाता है और जो व्यक्ति ये काम करता है उसे “नेटवर्कर” कहा जाता है।

नेटवर्क मार्केटिंग दुनिया का एकमात्र ऐसा बिजनेस है जो सबसे ज्यादा तेजी से सबसे अच्छे स्टैबल करोड़पति बना सकता है, इसमें पाए जाने वाले Compounding Efect की वजह से इसे तेजी से ग्रो करना बहुत ही आसान है।

यदि आप यहाँ करियर बनाना चाहते है तो यह तभी आपके लिए काम करेगा जब आप इसके बेसिक नियमों को समझें, जिस तरह से किसी स्कूल या कॉलेज मे एडमिशन लेने के बाद हमें उसके सलेबस को पढ़ना पड़ता है ठीक उसी तरह नेटवर्क मार्केटिंग में भी जुडने के बाद उसको सीखना जरूरी है।

Network Marketing Kya Hai इसके बारे में जानकारी मिल गयी होगी आगे हम इससे जुड़ी अन्य महत्वपूर्ण चीजों के बारे में बात करेंगे।

नेटवर्क मार्केटिंग के फायदे –

नेटवर्क मार्केटिंग के वैसे तो बहुत सारे फायदे है लेकिन ये कुछ ऐसे बेनिफिट्स है जो इस बिजनेस को खास बनाते है और सबसे अलग भी।

Passive Income –

आमतौर पर किसी जॉब में हमें सैलरी तब तक मिलती है जब तक हम जॉब पर टाइम से पहुंचते हैं वहां समय देते है तो हमारे द्वारा दिये गए उसी समय के बदले हमें पैसे मिलते हैं।

नेटवर्क मार्केटिंग इससे अलग है यहां शुरुआत में पैसे नही के बराबर या कम मिलते है, जैसे-जैसे बिजनेस में आपके साथ लोग जुड़ते चले जाते हैं, टीम बड़ी होती जाती है, धीरे-धीरे इनकम बढ़नी शुरू होती है।

नेटवर्क मार्केटिंग में शुरूआत में जॉब कि तुलना में ज्यादा मेहनत करनी पड़ती इसमें 80:20 रेश्यो काम करता है, जिसका मतलब है आप अपना 80% मेहनत (प्रयास) करेंगे तो 20% रिजल्ट मिलेगा, जब एक बार आप अपने लक्ष्य तक पहुंच जाते है, तो फिर आपको 20% मेहनत करने पर 80% रिजल्ट मिलता है।

पैसिव इनकम (Passive Income) का यह सबसे अच्छा सोर्स है, अगर इसको एक साधारण भाषा में समझें तो कोई फसल जैसे गेहूं चावल इत्यादि ये जो फसले है इनसे उपज लेने के लिए लिए हर साल खेत में लगाना पड़ता है और उस दौरान लगातार इसकी देखभाल भी करनी होती है।

इससे अलग कोई फल देने वाला बड़ा आम का पेड़ है तो उसे लगाने पर फल लेने के लिए तीन से चार साल देखभाल करनी पड़ती है, जिसके बाद ही फल मिलना शुरू होता है।

इन दोनों विधियों में अंतर यह है कि किसी फसल से हमें 90 से 100 दिनों में ही उत्पाद मिल जाता है, लेकिन इसे हर साल लगातार लगाना पड़ता है और इसमें मेहनत हर बार लगती हैं

जबकि एक आम का पेड़ जिससे शुरुआत के तीन-चार साल में कुछ नही मिलता लेकिन जब वह एक बार फल देना शुरू करता है तो वह अगले 100-150 सालों के लिए फल देता रहता है, इसमें बाद में हमें मेहनत नही करनी पड़ती है, पैसिव इनकम कुछ ऐसा ही है।

और नेटवर्क मार्केटिंग (Network Marketing Kya Hai) आम के पेड़ की तरह है, इसे शुरुआत में बिना रिजल्ट की चिंता किये, काम करते रहना है, जब इसमें एक बार इनकम शुरू होती है तो फिर वह लगातार मिलती रहती है, बस इसमें अपनी टीम की देखभाल करते रहना है।

पाज़िटिव अप्रोच –

इस बिजनेस में काम करने वाले व्यक्ति को नेगेटिव लोगों से अक्सर सामना होता है, लेकिन इसमें आगे बढ़ने और लगातार सीखते रहने की इच्छा शक्ति हर तरह के नेगेटिव चीजों से सामना करने की स्किल डेवलप कर देती है।

एक नेटवर्कर फील्ड में रोज कुछ न कुछ आवश्य सीखता है और ये लगातार सीखने रहने की इच्छा जीवन में भी आने वाले किसी भी नेगेटिव चीजों से लड़ने की इच्छाशक्ति पैदा कर देती है।

network marketing kya hai
network marketing kya hai

लीवरेज सेक्टर –

कोई व्यक्ति जॉब करता है तो उसकी डयूटी के हिसाब से ही सैलरी मिलती है, जितनी ज्यादा मेहनत व करेगा उतना ज्यादा पैसा उसको मिलेगा, लेकिन वह जिसके लिए वह काम कर रहा है वो मालिक उस व्यक्ति के द्वारा किये गए काम से पैसे कमाता है

यदि उसके ऑफिस में 100 लोग है और प्रत्येक व्यक्ति 8 घंटे काम करते है तो रोजाना 800 घंटे का काम वे अपने मालिक के लिए करते है, जो कि अकेले किसी व्यक्ति के द्वारा किये जा रहे काम के घंटों की तुलना में बहुत कम है।

नेटवर्क मार्केटिंग (Network Marketing Kya Hai) दुनिया का सबसे बड़ा लिवरेज सेक्टर है, लिवरेज का मतलब होता है किसी बड़े काम को करने के लिए एक छोटे से काम का सहारा लेकर करना।

लिवरेज दो तरह से होता है-

1. पैसे का लिवरेज- बड़े-बड़े बिजनेसमैन ज्यादा पैसा लगाकर काम करते है और उसमें कम पैसे लगाकर मजदूर रखकर काम करवाते है, इसमें जिसमें अधिक मुनाफा कमाकर अमीर बन जाते है।

2. समय का लिवरेज- अपने बिजनेस में ज्यादा लोगों को वेतन पर नौकरी देकर काम करवाते हुए अपने रोज के घंटे को कई गुना बढ़ा देना और ज्यादा पैसे कमाना।

दुनिया के जितने भी उद्योगपति है वो लिवरेज सेक्टर की वजह से ही अमीर हुए है, सभी उद्योगपतियों ने अपने काम करने के घंटे को बढ़ाया है, उसी तरह नेटवर्क मार्केटिंग में भी अपनी टीम बना कर अपने काम के घंटे को बढ़ा सकते है और लीवरेज का पूरा फायदा उठा सकते है।

नेटवर्क मार्केटिंग में कोई भी व्यक्ति सिस्टम से काम करके अमीर बन सकता है उसके लिए न पढ़ाई की जरूरत है न पैसों की, केवल उसके अंदर अमीर बनने की इच्छा शक्ति होनी चाहिए।

किसी भी क्षेत्र में चाहे धर्म के क्षेत्र में हो, राजनीति के क्षेत्र में हो या किसी उद्योग के क्षेत्र में हो, इसमें सफल सभी लोग लिवरेज से ही सफल हुए है।

जब आपको आम आदमी का लिवरेज मिलने लगता है तो आप सफलता की सीढ़ियां चढ़ने लगते है और एक ऐसा वक्त भी आता है जब आप खुद को सफल व्यक्ति के रूप में देखते है।

आप अपना चेक खुद तय करते है –

इस बिजनेस में मिलने वाली सैलरी निश्चित नहीं होती आपके काम और स्किल के अनुसार यह कम और ज्यादा हो सकती है, लेकिन एक बार जब आपने इसे सही से समझकर सेटअप कर दिया तो उसके बाद इनकम घटने के कम चांस होते है और हमेशा यह पिछले महीने से ज्यादा आती है।

नेटवर्किंग का बिजनेस वो बिजनेस है जिसमें आप अपना चेक खुद लिखते है कि महीने का कितना पैसा आपको चाहिए, इसकी यह क्वालिटी इसको बाकी के बिजनेस से अलग बनाती है और खास भी।

समय की आजादी –

शुरुआत में इसमें बहुत मेहनत करनी पड़ती है, लेकिन धीरे-धीरे बिजनेस के बढ़ने के साथ समय की आजदी मिलती है, याद रखिए कि “जो व्यक्ति सोते समय पैसे नहीं कमा सकता है वह जिंदगी भर मेहनत करता है।”

जीवन में एक बात याद रखें कि “अधिक पैसे कमाने से आजादी नहीं मिलती बल्कि पैसे कमाने कि स्वतंत्रता से आजादी मिलती है”, नेटवर्क मार्केटिंग (Network Marketing Kya Hai) हर किसी को यह मौका देता है कि लोग अपने सपने को पूरा करें, ताकि जब आप बिजनेस ना भी कर रहे हो तो पैसे आपके अकाउंट में आते रहें।

अधिक लोगों के साथ जुड़ाव –

इस बिजनेस में रोज अनेकों प्रकार के नए लोगों से मिलने का मौका मिलता है, जिनसे बहुत कुछ सीखने का मौका मिलता है, क्योंकि ज्यादा लोगों के साथ जुड़ाव होने और संबंध होने से हमारा समाजिक स्तर ऊंचा होता है।

अधिक लोगों से मिलना आपके बिजनेस में सफलता और निरंतर आगे बढ़ते रहने की निशानी है, यह न सिर्फ अधिक पैसे कमाने की स्वतंत्रता देता है बल्कि, प्रसिद्ध भी बनाता है।

अत्यधिक मान-सम्मान –

ये चीज मैने केवल इसी बिजनेस में देखी है, कि लोग एक दूसरे का कितना रिस्पेक्ट करते है, वे आपको इतना सम्मान देते है जिसकी कोई सीमा नहीं है।

चाहे अप लाइन हो या डाउन लाइन आप थोड़ा स भी ध्यान देंगे तो पाएंगे कि इस बिजनेस में आने के बाद व्यक्ति के जीवन में बोलने और दूसरों कि रेसपेक्ट करने का जो भाव आता है वह किसी और बिजनेस में नहीं आता है और यही इस बिजनेस की खासियत है।

हो सकता है कि आपके मन में आये कि ये सब कुछ पैसे के लिए या लोगों को फँसाने के लिए होता है या इसमें अप लाइन का फायदा है, तो आप गलत नहीं सोच रहे है, लेकिन ये भी सोचिए कि क्या इस दुनिया में ऐसा कोई भी रिश्ता है जिसके पीछे कोई लालच न छुपा हो, आप 10 मिनट बैठ कर सोचिए।

हर चीज को लालच या फायदे के नजरिए से देखना सही नहीं है, क्योंकि आज जहां कहीं भी काम करते है या करेंगे वहाँ पर भी आपका मालिक, आपका बॉस प्रॉफ़िट ही देखेगा उसी के हिसाब से प्रमोशन और सैलरी मिलती है।

रीकरिंग बिजनेस मॉडल –

एक बार जब आप यहाँ अपनी एक टीम बना लेते है, तो उसकी मदद से पैसे हमेशा आते रहते है, चाहें आप रहें या ना रहें एक बार इस बिजनेस में टीम सेटअप करने के बाद जितनी भी इनकम हो वह जिंदगी भर मिलती है।

एक बार जब ग्राहक को प्रोडक्ट पसंद आ जाता है तो वह जितनी बार समान खरीदता है, आपको पैसे मिलते है, Recurring Business Model इस बिजनेस को खास बनाता है।

सुरक्षित जॉब –

इस बिजनेस में आपकी जॉब सरकारी नौकरी (Goverment Job) से भी ज्यादा सिक्योर है यदि वह फ्रॉड कंपनी नहीं है तो। हम सारी जिंदगी पैसे के पीछे भागते रहते है, हम, हमारे बच्चे, उनके बच्चे ऐसे ही यह पीढ़ी दर पीढ़ी परंपरा चलती रहती है और सभी ने यह न सिर्फ अनुभव किया है बल्कि रोजाना देखते आ रहे है।

नेटवर्क मार्केटिंग मे यदि आपने अच्छे से काम कर लिया तो फिर आपको पैसे कि तो सोचने की कोई जरूरत नहीं है, ऊपर वाला न करे काभी आप इस दुनिया में न रहे तो भी, इस बिजनेस से आपके अगली पीढ़ी यानि आपके नॉमिनी ( बच्चे या पत्नी) को ये सारा सिस्टम ट्रांसफर हो जाता है, उनके खाते में पैसे उसी तरह आते रहेंगे जैसे आपके अकाउंट में आते है।

अगर वो आगे काम ना भी करें और थोड़ा स भी टीम को मेंटेन करके रखें तो भी जीवनभर पैसे आने की गारंटी रहती है, और यह पीढ़ी दर पीढ़ी चलती रहती है।

कम लागत –

यह एक ऐसा बिजनेस है जिसे कम इनवेस्टमेंट मे भी शुरू किया जा सकता है, कुछ कंपनियां है जो रजिस्ट्रेशन के नाम पर 5000-10,000 रुपये लेती है, लेकिन कुछ ऐसी भी कंपनियां है जिनसे जुड़ने के लिए कोई भी चार्ज नहीं देना होता है और इसके बारे में हम आगे आपको बताएंगे।

शायद ही ऐसा कोई शानदार बिजनेस होगा जो थोड़ी सी लागत में शुरू किया जा सके और जीवन भर इनकम आने की गारंटी मिलती हो वो भी पैसे कमाने की आजादी के साथ।

खुला बाजार –

नेटवर्क मार्केटिंग (Network Marketing Kya Hai) एक ओपन मार्केट है, आप भारत में या किसी भी देश में जाकर इस बिजनेस को कर सकते है, अगर कोई नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी इंटरनेशनल है और आपकी टीम से कोई भी व्यक्ति भारत के बाहर काम कर रहा है तो आपको उसके पैसे मिलते है और काफी ज्यादा मिलते है।

आप अपनी टीम के लिए कहीं से भी लोगों को चुन सकते है पता नहीं कब आपका कोई टीम मेम्बर आपके लिए एक इंटरनेशनल बिजनेस खड़ा कर दे, ओपन मार्केट का यह सिस्टम आपको इस बिजनेस के अलावा कहीं और नहीं देखने को मिलेगा।

कंपाउंडिंग का जादू –

नेटवर्क मार्केटिंग का बिजनेस कंपाउंडिंग एफ़ेक्ट पर काम करता है, कंपाउंडिंग एफ़ेक्ट की शुरुआत में तो कुछ भी पता नहीं चलता लेकिन कुछ समय बात अचानक से यह इतना बड़ा हो जाता है, कि एक आम इंसान इसके जादू के बारे में तो सोच भी नहीं सकता।

आप अपने टीम में केवल 5 लोगों को शामिल करते है, और ये 5 लोग अपने नीचे 5 लोगों को शामिल करते है, अब आपकी टीम में कुल 130 लोग हो गए, लेकिन शुरुआत में आपने केवल 5 बेहतरीन लोगों को जो आपके बिजनेस को समझ पाए उन्ही को जोड़ने में मेहनत की बाकी का काम आपकी टीम ने कर दिखाया।

अब अगर आपकी टीम के ये 125 नए लोग 3-3 लोगों को भी लाते है तो आपकी टीम में कुल 500 से ज्यादा लोग हो जाते है, लेकिन अभी भी आपने केवल शुरू के 5 बेहतरीन लोग को खोजने में मेहनत की है, यही है कंपाउंडिंग इफ़ेक्ट।

नीचे इस कहानी के माध्यम से इस इफ़ेक्ट की विशालता के बारे में कुछ अनुमान लगा सकते है-

एक राजा जो कि बहुत दयालु थे और अपनी प्रजा को कुछ भी देने के लिए हमेशा देने के लिय तैयार रहते थे, एक बार वे शतरंज खेल रहे थे और उनकी प्रजा में से एक साधू उनके पास आये और बोले- राजन मैं आपसे कुछ मांगना चाहता हूँ…
राजा ने कहा – मांगों साधू महाराज, आपको क्या चाहिए?

साधू ने कहा – मुझे आपसे कुछ नहीं… बस थोड़े चावल के दाने चाहिए।

राजा ने कहा – तौहीन !! आप मुझसे कुछ भी मांग सकते है, फिर ये कुछ चावल के दाने क्यों?

साधू ने कहा – नहीं राजन मुझे कुछ ही चावल के अनाज चाहिए बस मेरी एक शर्त है, कि ये जो आपका शतरंज है इसके पहले खाने में एक चावल का दाना और दूसरे खाने दो चावल के दाने और तीसरे खाने में चार चावल के दाने इसी प्रकार हर खाने में चावल के दाने की संख्या दुगुनी करती जाएं।

राजा ने कहा – ठीक है साधू महाराज और उसने अपने सिपाहियों को आदेश दिया कि साधू के लिए चावल के दाने लाए जाएं, इसके बाद सारे सिपाही चले गए और कुछ देर के बाद दौड़ते हुए वापस आये, त्राहिमाम त्राहिमाम त्राहिमाम राजन गजब हो गया।

राजा ने कहा – क्या हुआ?

सिपाही बोले – महाराज वो साधू बहुत, बुद्धिमान है वह जितना अनाज मांग रहे है उतना अनाज तो आजतक पृथ्वी पर उगा ही नहीं है।

इतना सुनने के बाद राजा आश्चर्यचकित रह गए…

सिपाही बोले – राजन इन चावल के दानों की संख्या डबल होते-होते 18,446,744,073,709,551,615 दाने होते है और इतने अनाज आजतक पूरी पृथ्वी पर नहीं हुए है, इसका एक चौथाई हिस्सा भी दस माउंट एवरेस्ट के बराबर है।
माउंट एवरेस्ट के बारे में न पता हो तो मैं बता दू कि यह दुनिया कि सबसे ऊंचा पर्वत है जो 8848 मीटर ऊंचा है।

network marketing kya hai
network marketing kya hai

यह बिजनेस कैसे काम करता है? –

जब कोई प्रोडक्ट मार्केट में आता है तो उसकी कुछ न कुछ कीमत अवश्य होती है, यदि हम मान कर चलें कि कोई बिस्किट का पैकेट 10 रुपये का है, जब हम 10 रुपये देकर इसको खरीदते है तो हमें लगता है, इसके पैकेट के अंदर मौजूद बिस्किट बनाने में 10 रुपये लगे है, इसीलिए तो हमसे इतने पैसे लिए जा रहे है।

जबकि वास्तव में ऐसा नहीं है इस पैकेट में, बिस्किट को बनाने के लिए रॉ मैटेरियल के साथ-साथ पैकिंग का खर्च, Advertisement का खर्च, बिस्किट बनाने वाली कंपनी का प्रॉफ़िट, होल सेलर का मुनाफा, फिर डिस्ट्रिब्यूटर का लाभ, इसके बाद आता है दुकानदार का प्रॉफ़िट ये सारी चीजें उसी बिस्किट के पैकेट की कीमत के अंदर मौजूद रहती है जिसे हम 10 रुपये में खरीदते है।

प्रोडक्ट बनाने वाली कंपनी ➡ डिस्ट्रिब्यूटर ➡ होल सेलर ➡ फुटकर विक्रेता (दुकानदार)➡ उपभोक्ता

तो इस हिसाब से देखें तो पैकेट के अंदर बिस्किट कि वास्तविक कीमत 3 रुपये से भी कम होती है, उसको पैकेट में भरने के बाद अलग-अलग जगहों पर कमीशन के कारण ग्राहक तक पहुंचते-पहुंचते इसकी कीमत 10 रुपये हो जाती है।

नेटवर्क मार्केटिंग (Network Marketing Kya Hai) में यही प्रोडक्ट फैक्ट्री में बनने के बाद कंपनी के एक प्रोसेस सिस्टम से होकर डायरेक्ट कस्टमर के पास पहुंचता है, इसलिए बीच में प्रोडक्ट पर लगने वाली कमीशन की कीमत बच जाती है और यही नेटवर्क मार्केटिंग में अलग-अलग लेवल पर नेटवर्कर में डिसट्रिब्यूट हो जाती है।

यह बिजनेस करने के लिए कितनी मेहनत करनी पड़ेगी? –

लाखों की चार पहिया गाड़ी कितनी भी तेज दौड़े लेकिन वह चलेगी रोड पर ही, क्योंकि उस गाड़ी के पहिये सड़क पर चलने के लिए डिज़ाइन किये गए है।

तीन करोड़ का छोटा सा जहाज जब हवाई पट्टी पर तेज गति से दौड़ेगा तो वह उड़ने लगेगा, क्योंकि हवाई जहाज का डिज़ाइन हवा में उड़ने के लिए डिज़ाइन किया गया है, हवाई जहाज में लगी हुई मशीन पंख को आवश्यक ऊर्जा देने के साथ-साथ हवा में उड़ने में मदद करती है।

पंख ही है जो जहाज को हवा में ले जाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते है, जब हवाई जहाज उड़ने के लिए तेज गति से दौड़ता है तो इस दौरान उसके चारों इंजन फुल स्पीड से एक साथ चलते है, और इससे पंखे फुल क्षमता से घूमते है, जिसकी ताकत से जहाज जमीन छोड़कर हवा में उड़ने लगता है।

सभी इंजन की ताकत पृथ्वी के गुरुत्वाकर्षण बल को पीछे छोड़ते हुए हवा में ऊपर उठने में मदद करती है, जब हवाई जहाज काफी ऊपर आकाश में एम स्टेट एण्ड लेवल में आ जाता है तो तीन इंजन बंद कर देते है, अब जहाज हवा में अपने पंखों के सहारे तैरने लगता है।

उसे ज्यादा पावर की जरूरत नही पड़ती, आगे जाने के मोमेंट को बनाये रखने के लिए एक इंजन चलता रहता है और केवल एक इंजन की मदद से जहां जाना होता है वहां चला जाता है।

लेकिन क्या आप जानते है, जहाज को ऊपर उड़ते समय सबसे ज्यादा तेल (ईंधन) की जरूरत पड़ती है, यदि कोई जहाज दिल्ली से मुंबई जा रहा है तो केवल उड़ान भरते समय 90% तेल लगता है और बाकी के 10% तेल में वह पूरी दूरी तय कर लेता हैं।

नेटवर्क मार्केटिंग (Network Marketing Kya Hai) भी कुछ जहाज के जैसा ही है, यहां शुरुआत में आपको बहुत मेहनत (80%) करनी होती है, और रिजल्ट बहुत कम (20%) होता है।

जितना ज्यादा बड़ी टीम (इंजन) होगी उतना तेजी से आपका बिजनेस दौड़ेगा, उतने ही ज्यादा इनकम के पंख आपको ऊंचाई पर ले जाएंगे और जितना ज्यादा टीम में लोगों को इनकम होगी उतना ज्यादा आप आगे बढ़ते जाएंगे, लिवरेज का फायदा उठाते हुए।

नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी कैसे ज्वाइन करें?

किसी भी नेटवर्किंग कंपनी के साथ जुड़ना हो तो उसके रजिस्ट्रेशन फॉर्म को भरना पड़ता है, जिसके बाद बड़ी ही आसानी से किसी भी कंपनी में जुड़ा जा सकता है, किसी भी कंपनी को ज्वाइन करने से पहले इन बातों का ध्यान जरूर रखें ऐसी कंपनियों से कभी न जुड़ें।

पिरामिड या चेन स्कीम –

इस तरह की कंपनियां अक्सर आपको नुकसान ही देती है, पिरामिड या चेन स्कीम में आप जुडने के बाद अपने ही जैसे और लोगों को लाते है और इस तरह से ग्रुप बनता है लेकिन इसमें ध्यान रखने वाली बात यह है कि आपको पैसे तभी मिलते है जब आप चेन कंप्लीट करते है।

जैसे कुछ कंपनियां है जो अपने नीचे लेफ्ट-राइट में तीन लोगों को जोड़ने पर चेक देती है तो जब तक आपके नीचे टीम लोग नहीं हो जाते आपको पैसे नहीं मिलेंगे।

ऐसी कंपनियों से दूर रहे क्योंकि ऐसे कंपनियों में जो भी अपलाइन से टीम बनती है, वह आपके नीचे लेफ्ट या राइट किसी एक ओर जोड़ते जाते है, जबकि दूसरी ओर आपको खुद लोगों को लाकर जोड़ना होता है, जिससे चेन बनने पर आपको चेक मिलता है।

ऐसे कंपनियों में आप देखेंगे कि आपकी जो एक साइड (leg) है उसमें बहुत से लोग जुड़ जायेंगे काफी लंबी लिस्ट देखने को मिलेगी और जो दूसरी लेग है जिसमें केवल आपको लोगों को जोड़ना होगा वो बढ़ती ही नहीं है।

प्लान पर फोकस –

दूसरा ऐसी हर कंपनी से दूर रहना है जो प्लान लेकर आ रही है आपको केवल प्लान पर फोकस करने को बोला जा रहा है, प्रोडक्ट पर नहीं, ध्यान रखिए कोई कंपनी अगर बार-बार केवल प्लान के ऊपर ही ध्यान देने कि कोशिश कर रही है तो वह आपके जैसा केवल नेटवर्कर बना रही है जबकि आपको ये नहीं बनना है |

इस बिजनेस में प्लान होना जरूरी है क्योंकि यही इस सिस्टम का आधार होता है लेकिन कंपनी जो प्रोडक्ट बना रही है उसपर ज्यादा ध्यान होना चाहिए आपके लीडर का, आपके कंपनी ऑफिसियल पर्सन का, प्रोडक्ट ही है जहां से सेल आने पर कमीशन मिलेगा।

केवल लोगों को जोड़कर कितना पैसा कमा लेंगे, अगर जुडने में 10,000 रुपये लग रहे तो भी एक बार आम आदमी सोचता है कि इस बिजनेस में कुछ इनकम कर सकते है कि नहीं, यदि जुडने के बाद उसे भी पता चले कि उसको भी अपने के जैसे 10-20 लोगों को लाना है तो फिर इससे आपकी क्रेडीबिलिटी खत्म होने लगती, लोग आपकी इज्जत नहीं करते।

कंपनी के लोग और उसका सिद्धांत –

जिस नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी से आप जुडने जा रहे है, तो उसमें ये चीजें जरूर देखें, जिससे वहाँ के लोग, कंपनी का माहौल और भविष्य की रूपरेखा आदि के बारे में आपको जानकारी हो जाए।

क्योंकि आप अपने जीवन का महत्वपूर्ण समय लोगों को देने वाले है, इसलिए कंपनी से जुड़ी हर चोटी चीज के बारे में आपको अनुभव हो।

  • उस कंपनी का सिद्धांत क्या है?
  • क्या कोई Binding Force है जो लोगों को जोड़कर रखती है?
  • क्या उस कंपनी के लोगों में बहुत अच्छा कल्चर है?
  • क्या कंपनी में एक बेहतर लिडरशिप है?
  • क्या कंपनी में नए लोगों की ट्रैनिंग और मेथड पर बहुत अच्छा ध्यान दिया जा रहा है?
  • क्या कंपनी में लर्निंग और डेवलपमेंट पर फोकस किया जा रहा है?

अगर ये सारी चीजें आपने अनुभव से किसी कंपनी के अंदर नहीं देखने को मिल रही है तो सावधान हो जाएं, क्योंकि ऐसे कंपनियां चलेंगी ही नहीं, अगर कंपनी में बार-बार केवल प्रॉफ़िट के बारे बात किया जा रहा है और कल्चर केवल प्रॉफ़िट-प्रॉफ़िट के बारे में बात कर रहा है।

कंपनी में कोई फिलोसोफी और नहीं है तो आप इस कंपनी से दूर रहे तो बेहतर रहेगा, अगर कंपनी में जाने के बाद आपका अनुभव अच्छा नहीं लग रहा तो दूर ही रहे।

इस बिजनेस में काम करने के लिए सपने होना अलग बात है लेकिन किसी कारण या मोटिव का होना भी जरूरी है, आपका सपना आपको काम करने के लिए प्रेरित करता है लेकिन आपकी कंपनी का आपकी टीम का मोटिव आपके टीम को काम करने के लिए प्रेरित करता है।

प्रोडक्ट की कीमत –

प्रॉडक्ट की कीमत सही हो, अक्सर ये देखने को मिलता है कि नेटवर्क मार्केटिंग के अंदर कोई भी प्रोडक्ट है तो उसकी कीमत काफी ज्यादा रखी होती है।

यदि प्रोडक्ट मंहगा भी है तो चलेगा लेकिन ये जरूर देखना है कि उसके इतना महंगा होने के पीछे कोई ठोस कारण है कि नही, प्रोडक्ट लाइन की एक खास बात होनी जरूरी है।

कहीं ऐसा तो नही कोई साधारण सा मार्किट में मिलने वाला बिस्कुट है जिसे बस पैक करके बेचा जा रहा है, जिसे नया जुडने वाला व्यक्ति कुछ दिनों या महीनों तक तो मोटिवेशन के चक्कर में खरीद लेगा लेकिन बाद में लंबे समय तक नहीं खरीद पाएगा।

प्रोडक्ट ऐसा हो कि लोग खरीदते समय ये न ध्यान में रखे कि ये नेटवर्क मार्केटिंग का प्रोडक्ट है और यह तभी संभव है जब प्रोडक्ट का जादू चले कहने का मतलब यह है कि कोई एक बार उसे प्रयोग करे तो उसका लाभ मिलना चाहिए, तभी तो ग्राहक स्टोर पर दोबारा खरीदने जाएगा।

ध्यान रखिए अगर प्रोडक्ट बढ़िया है तो नेटवर्कर को बिजनेस करना बहुत ज्यादा आसान हो जाता है, बस उसे केवल एक बार लोगों तक पहुंचाने की जरूरत है।

रीकरिंग यूज –

कंपनी में जो भी प्रोडक्ट बेच रहे है, उसका रीकरिंग यूज होना जरूरी है, भले ही कमीशन थोड़ी कम मिले लेकिन प्रोडक्ट ऐसा हो जिसे लोग बार-बार खरीदे , कई सारी कंपनियां है जो नेटवर्क मार्केटिंग में सूट का कपड़ा, इलेक्ट्रॉनिक आइटम, शो पीस इत्यादि बेचती है।

इन सब प्रोडक्ट बेचने वाली कंपनी से दूर रहें, मान लीजिए आपने अपने दोस्त को कंपनी मे जोड़ने के बाद कपड़ा दिला भी दिए तो क्या वो दोबारा आपकी कंपनी में कपड़ा खरीदेगा, उत्तर है – नहीं… खुद सोचिए आप कितने लोगों को कपड़े बेच पाएंगे।

ऐसी कंपनी से जुड़े जिसमें खाने-पीने की चीजें हेल्थ से जुड़ी चीजें मौजूद हो, लेकिन उसकी एक खास बात हो जिसे आप लोगों के सामने उस मजबूत पक्ष के साथ रख पायें।

विश्वास –

आप जो भी प्रोडक्ट किसी के सामने ल रहे है उसपर खुद का विश्वास होना जरूरी है, साथ ही अगर यूजर इसे खरीद रहा है तो उसका विश्वास इसपर होना जरूरी है और यह तभी संभव हा इजब प्रोडक्ट में क्वालिटी होगी या उसकी कोई युनीक चीज होगी जो बाकि कहीं और न मिलती हो ताकि कस्टमर दोबारा ढूँढता हुआ आपके पास आये।

network marketing kya hai
network marketing kya hai

नेटवर्क मार्केटिंग का नाम खराब क्यों है? –

ऐसा नहीं है कि यह बिजनेस सही नहीं है अगर इक्कीसवीं सदी के सबसे अच्छे बिजनेस आइडियाज की बात करें तो यह इस सदी का सबसे बेहतरीन बिजनेस मॉडल है, जिसने इसको एक बार ठीक से समझ लिया न तो फिर उसकी लाइफ बन सकती है।

लेकिन जब ये इतना बढ़िया बिजनेस मॉडल है तो फिर इसका नाम इतना खराब क्यों है लोग नेटवर्क मार्केटिंग का नाम सुनकर इससे दूर क्यों भागना चाहते है?

इसके कई कारण है ऐसी कुछ कंपनियों के साथ मेरा खुद का अनुभव रहा है, जिन्होंने कुछ ऐसा किया कि कोई व्यक्ति दोबारा नेटवर्क मार्केटिंग (Network Marketing Kya Hai) की तरफ देख भी नहीं सकता है, इस इंडस्ट्री का नाम उन कंपनियों ने खराब किया –

1- जिन्होंने अपने बिजनेस को शुरू करते समय ही बंद करने का समय निर्धारित कर दिया –

इस लिस्ट में ऐसी हजारों कंपनियां है जो इस तरह फ्रॉड का काम करके लाखों लोगों के विश्वास के साथ खिलवाड़ किया, एक छोटे से प्रॉफ़िट के लिए पहले तो ये कंपनियां बनाई जाती है, फिर जैसे ही ये अपने टारगेट प्रॉफ़िट के पास पहुंचते है, कम्पनी बंद करके भाग जाते है।

ऐसी ही एक कंपनी जिसके साथ मेरा खुद का अनुभव रहा है, नई-नई मार्केट में आई, जो कि मोबाईल रिचार्ज को काफी सस्ते दामों में बेचा करती थी, सेम प्लान को कोई नेटवर्क प्रोवाइडर तीन महीने के लिए दे रहा होता है ये लोग उसी प्लान को पाँच महीने के लिए दिया करते थे।

इस कंपनी के प्लान को लेने लिए 100 रुपये देकर कंपनी में जुड़ना होता था, फिर रिचार्ज कराना होता था, जिसके बाद ये नेटवर्क प्रोवाइडर का एक-एक महीने का रिचार्ज कराते थे, मतलब पूरे पाँच महीने का एक साथ न होकर हर महीने का ये एक रिचार्ज किया करते थे।

और इस तरह बाकी के महीने के पैसे कंपनी के पास जमा रहते, इस तरह से जब कंपनी के पास अच्छी खासी रकम जमा हो गयी तो ये अपना बिजनेस बंद करके भाग गयी।

जब कोई इनसे जुड़ता तो नेटवर्कर को ये कमीशन दिया करते थे जिसके कारण काफी तेजी से सब फैला लाखों लोगों ने रिचार्ज कराये, जब कंपनी के पास लोगों के ये पैसे जमा हो गए तो इन्होंने अपनी वेबसाईट और सर्वर को बंद कर दिया क्योंकि ये अनलाइन बिजनेस रन कर रहे थे। 5 i kya hai network marketing (5 i kya hai)

2- इस बिजनेस में फेल होने वाले लोग –

इस बिजनेस का नाम उन लोगों ने भी खराब किया, जो इस बिजनेस में सफल नहीं हो पाए और एक कंपनी से दूसरी कंपनी में आते-जाते रहे उन लोगों ने इसका नाम खराब किया और वापस जाकर इसकी इतनी बुराई करी की कोई जुड़ने की भी सोच नहीं सकता।

याद रखिए जो व्यक्ति एक जगह टिककर काम नहीं कर सकता वो कहीं भी कुछ नहीं कर सकता, यदि किसी को सफल होना है तो कोई भी सही काम करने वाली कंपनी हो उसे सफल होने से कोई नहीं रोक सकता।

नेटवर्क मार्केटिंग में क्या करना पड़ता है?

एक अच्छी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ काम करना किसी बिजनेस को करने के बराबर ही है, आप कस्टमर को सेल करते है बदले में लाइफ टाइम लिवरेज इनकम पाते है।

क्या नेटवर्क मार्केटिंग सही है?

नेटवर्क मार्केटिंग अपने आप में एक अनूठा बिजनेस है, इसकी कुछ ऐसी क्वालिटीज है जो और किसी बिजनेस में नहीं पाई जाती है, शुरुआत में इसे साइड बिजनेस के तौर पर करना और समय के साथ इसे पूरी तरह एडाप्ट करना एक सही निर्णय होता है।

नेटवर्क मार्केटिंग का भविष्य?

आने वाला समय नेटवर्क मार्केटिंग के लिए सुनहरा दौर होने वाला है, भारत में अभी यह लोगों के बीच लोकप्रिय हो रहा है, निश्चित ही इसमें आप अपना करियर बना सकते है यदि आप एक अच्छी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी के साथ जुडते है तो।

नेटवर्क मार्केटिंग के नियम।

नेटवर्क मार्केटिंग के वैसे तो बहुत से नियम और टिप्स है जिनको फॉलो करके आप एक सफल नेटवर्कर बन सकते है।

कौन सी नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी जॉइन करें?

यदि आप नेटवर्क मार्केटिंग कंपनी से जुड़कर एक अच्छा करियर बनाना चाहते है तो, इस आर्टिकल को पढ़ें।

Summary –

किसी चीज अच्छे-बुरे पहलुओं को अगर देखा जाए तो बाकी चीजों के साथ यह हर बिजनेस में देखने को मिलते है, नेटवर्क मार्केटिंग भी इससे अलग नहीं है।

लेकिन यदि इसमें करियर बनाने के नजरिए से देखा जाए तो बिल्कुल इसे एक बार जरूर ट्राइ करें, शुरुआत में इसमें पार्ट टाइम मेहनत करें क्या पता आप इसी बिजनेस के लिए बने हों।

इस बिजनेस में लाखों कमाने का वादा करना तो नहीं ठीक है लेकिन आज के समय में इस इंडस्ट्री ने ऐसे लाखों लोग दिए है जो जॉब के बराबर घर बैठे इनकम कर रहे है।

तो दोस्तों नेटवर्क मार्केटिंग (Network Marketing Kya Hai) के बारे में यह आर्टिकल आपको कैसा लगा हमें जरूर बताएं और यदि इस विषय से संबंधित आपका कोई सवाल या सुझाव हो तो उसे नीचे कमेन्ट बॉक्स में लिखना न भूलें, धन्यवाद 🙂

1 thought on “Network Marketing Kya Hai -【नेटवर्क मार्केटिंग】की पूरी जानकारी”

Leave a Comment