Rajasthan Mein Kitne Jile Hain【राजस्थान के 50 जिलों के नाम】

Rajasthan Mein Kitne Jile Hain | राजस्थान के 50 जिलों के नाम | राजस्थान के जिले | राजस्थान के जिलों के नाम | राजस्थान के नए जिले

भारत का एक ऐसा राज्य जहां पुरानी विरासत की झलक आज भी देखने को मिलती है, क्षेत्रफल के आधार पर भारतीय गणराज्य का यह सबसे बड़ा राज्य है, हाल ही में राजस्थान के कुछ जिलों को काटकर नए जिले बनाए गए है।

Hello Friends, स्वागत है आपका हमारे ब्लॉग पर आज हम बात करने जा रहे है, राजस्थान के सभी जिले और संभाग की लिस्ट और राजस्थान के बने नए जिले तथा उनसे जुड़ी कुछ अन्य जानकारियों के बारे में भी बात करेंगे उम्मीद करता हूँ आपको यह लेख पसंद आएगा।

Rajasthan Mein Kitne Jile Hain –

Rajasthan Mein Kitne Jile Hain
Rajasthan Mein Kitne Jile Hain

एक नजर राजस्थान के बारे में –

क्षेत्रफल के आधार पर, राजस्थान भारत का सबसे बड़ा राज्य है, इसकी राजधानी “जयपुर” है।

अपने शाही कल्चर के लिए प्रसिद्ध यह राज्य अपने अंदर बहुत सी संस्कृतियाँ समेटे हुए है, वर्तमान में राजस्थान राजतन्त्र के इतिहास की झलक देखने को मिलती है।

वर्ष 1800 ई मे जार्ज थामस ने इस प्रांत को राजपूताना नाम दिया, प्रसिद्ध इतिहासकार जेम्स टाड ने अपनी किताब “एनलस एंड एन्टीक्वीटीज आफ राजस्थान” में इस राज्य का नाम “रायथान” या “राजस्थान” रखा।

पड़ोसी देश पाकिस्तान के साथ 1070 km की अंतरराष्ट्रीय सीमा (रेड क्लिफ रेखा) और देश के पाँच राज्यों के साथ अंतर्राज्यीय सीमा के साथ जुड़ा हुआ है

दक्षिण-पश्चिम में गुजरात, दक्षिण-पूर्व में मध्यप्रदेश, उत्तर में पंजाब (भारत), उत्तर-पूर्व में उत्तरप्रदेश और हरियाणा अपनी सीमाएं साझा करते है, जिनकी लंबाई 4850 km है।

पर्यावरण को बचाने के लिए यहाँ चार बाघ अभयारण्य, मुकंदरा हिल्स, रणथम्भौर एवं सरिस्का हैं।

राजस्थान में भरतपुर के समीप केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान है, जो सुदूर साइबेरिया से आने वाले सारसों और बड़ी संख्या में स्थानीय प्रजाति के अनेक पक्षियों के संरक्षित-आवास के रूप में बनाया गया है।

अगर बात खान-पान की हो तो राजस्थान इसमें अद्भुत है, यहाँ की डिशेज केवल भारत ही नहीं पूरे विश्वभर में प्रसिद्ध है।

हालांकि भौगोलिक परिस्थितियों के कारण हरी सब्जियों की तात्कालिक अनुपलब्धता के कारण पारंपरिक राजस्थानी खाने में इनका प्रयोग कम ही रहा है, लेकिन फिर भी यहाँ का खाना विशेष रूप से शाकाहारी रहता है।

पारंपरिक राजस्थानी खाने में बेसन, दाल, मठा, दही, सूखे मसाले, सूखे मेवे, घी, दूध का काफी ज्यादा प्रयोग किया जाता है।

सान्गरी, भुजिया, दाल बाटी और चूरमा, दाल की पूरी, मावा मालपुआ, पिटौर की सब्जी, घेवर और बीकानेरी रसगुल्ला अपने अनूठे स्वाद के लिए प्रसिद्ध है।

इसके अलावा झाजरिया, बालूशाही, पंचकूट, गौंदी, लपसी, गट्टे की सब्जी और हल्दी का साग एक अपने आप में एक अलग ही स्वाद समेटे हुए है।

घुमंकड़ी लोगों के लिए तो यह राज्य किसी जन्नत से कम नहीं है, चाहे यहाँ के इतिहास के पन्ने में देखना हो या कल्चर सबकुछ आपको आश्चर्यचकित कर देगा।

उदयपुर, जयपुर, बीकानेर, जोधपुर, रणथंभौर, माउंट आबू, जैसलमेर, अजमेर, पुष्करी, चित्तौड़गढ़, अलवाड़, कुम्भलगढ़, नीमराना फोर्ट पैलेस, मंडावा और केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान जैसी सैकड़ों घूमने की बेहतरीन जगहें है।

राज्य का गठन30 मार्च 1949
राजधानीजयपुर
राज्य गीत और नृत्य“केसरिया बालम आओ नी पधारो म्हारे देश” और घूमर
राज्य पशु और पक्षी चिंकारा, ऊंट और ग्रेट इंडियन बस्टर्ड
राज्य पुष्प और वृक्षरोहिडा का फूल और खेजड़ी
विधानमण्डलएकसदनीय
विधानसभा सीटें200 सीटें
संसदीय क्षेत्र राज्यसभा10 सीटें
संसदीय क्षेत्र लोकसभा25 सीटें
कुल क्षेत्रफल 342239 किमी2 (1,32,139 वर्गमील)
क्षेत्रफल की दृष्टि से स्थानप्रथम
क्षेत्रीय भाषाएं राजस्थानी, मारवाड़ी, मेवाड़ी, मेवाती, बागड़ी, ढूंढ़ाडी, हाड़ौती
राजभाषाहिन्दी
अतिरिक्त आधिकारिक भाषा अंग्रेज़ी
समय मण्डलIST (यूटीसी+05:30)
आई॰एस॰ओ॰ 3166 कोडIN-RJ
वाहन पंजीकरणRJ
लिंगानुपात (2011)928♀/1000♂

राजस्थान के 50 जिलों के नाम –

प्रशासन के समुचित संचालन के लिए पूरे राज्य को 10 मंडलों/संभागों में विभाजित किया गया है, ये मण्डल आगे जाकर जिलों में बंटे हुए है।

आगे चलकर जनपद फिर तहसील और ग्राम पंचायतों में बंटे हुए है, जिससे सरकार की योजनाओं को आमजन तक पहुंचाने और शाशन व्यवस्था को आसानी से चलाया जा सके।

नीचे राजस्थान के सभी जिलों के बारे में जानकारी, मण्डल/संभाग के अनुसार दी गई है –

अजमेर संभाग –

1.अजमेर (Ajmer)RJ – 01
2.नागौर (Nagaur)RJ – 21
3.टोंक (Tonk)RJ – 26
4.ब्यावर (Beawar)RJ – 36
5.केकड़ी (Kekri)RJ – 48
6.डीडवाना-कुचामन (Didwana)RJ – 37
7.शाहपुरा (Shahpura)RJ – 52

भरतपुर संभाग –

8.भरतपुर (Bharatpur)RJ – 05
9.धौलपुर (Dholpur)RJ – 11
10.करौली (Karauli)RJ – 34
11.सवाई माधोपुर (Sawai Madhopur)RJ – 25
12.डीग (Deeg)RJ – 05A
13.गंगापुर सिटी (Gangapur)RJ – 25A

बीकानेर संभाग –

14.बीकानेर (Bikaner)RJ – 07
15.श्रीगंगानगर (Sri Ganganagar)RJ – 13
16.हनुमानगढ़ (Hanumangarh)RJ – 31
17.अनूपगढ़

इन राज्यों के जिलों के बारे में भी पढ़ें –

मध्य प्रदेश के जिलों की लिस्ट Click Here
बिहार के जिलों की लिस्ट Click Here
छत्तीसगढ़ के जिलों की लिस्ट Click Here
उत्तराखंड के जिलों की लिस्ट Click Here

जयपुर संभाग –

18.अलवर (Alwar) RJ – 02
19.दौसा (Dausa)RJ – 29
20.जयपुर (Jaipur)RJ – 45
21.जयपुर (ग्रामीण) Jaipur (Gramin)RJ – 14
22.दृदू (Dudu)RJ – 47
23.बहरोड (Behror)RJ – 02A
24.कोटपूतली (Kotputli)RJ – 32
25.खैरथल- तिजारा

जोधपुर संभाग –

26.बाड़मेर (Barmer)RJ – 04
27.जैसलमेर (Jaisalmer)RJ – 15
28.जोधपुर (Jodhpur)RJ – 19
29.जोधपुर (ग्रामीण)
30.फलौदी (Phalodi)RJ – 43
31.बालोतरा (Balotra)RJ – 39

कोटा संभाग –

32.बारां (Baran)RJ – 28
33.बूंदी (Bundi)RJ – 08
34.झालावाड़ (Jhalawar)RJ – 17
35.कोटा (Kota)RJ – 20

उदयपुर संभाग –

36.उदयपुर (Udaipur)RJ – 27
37.चित्तौड़गढ़ (Chittaurgarh)RJ – 09
38.राजसमंद (Rajsamand)RJ – 30
39.भीलवाड़ा (Bhilwara)RJ – 06
40.सलुम्बर (Salumbar) RJ – 58 

सीकर संभाग –

41.सीकर (Sikar)RJ – 23
42.नीम का थाना (Neem Ka Thana)RJ – 23B
43.चूरू (Churu)RJ – 10
44.झुंझुनूं (Jhunjhunu)RJ – 18

पाली संभाग –

45.पाली (Pali)RJ – 22
46.जालौर (Jalore)RJ – 16
47.सांचौर (Sanchore)RJ – 16B
48.सिरोही (Sirohi)RJ – 24

बांसवाड़ा संभाग –

49.बांसवाड़ा (Banswara)RJ – 03
50.डूंगरपुर (Dungarpur)RJ – 12
51.प्रतापगढ़ (Pratapgarh)RJ – 35

Summary –

तो दोस्तों, राजस्थान के सभी जिले की लिस्ट और इससे जुड़ी जानकारियों के बारे में यह लेख आपको कैसा लगा हमें जरूर बताएं नीचे कमेन्ट बॉक्स में यदि आपके पास इससे जुड़ा कोई सवाल या सुझाव हो तो उसे भी लिखना न भूलें, इस आर्टिकल को अपने दोस्तों के साथ जरूर शेयर करें, धन्यवाद 🙂

हमें इंस्टाग्राम पर फॉलो करें –

1 thought on “Rajasthan Mein Kitne Jile Hain【राजस्थान के 50 जिलों के नाम】”

Leave a Comment